स्पिनिंग मिलों की मांग बढ़ने से गुजरात में कॉटन के दाम मजबूती, दैनिक आवक घटी

स्पिनिंग मिलों की मांग बढ़ने से गुजरात में कॉटन के दाम मजबूती, दैनिक आवक घटी

नई दिल्ली, 14 अप्रैल (कमोडिटीज कंट्रोल) स्पिनिंग मिलों की खरीद बढ़ने के कारण गुजरात की मंडियों में शुक्रवार को कॉटन के दाम मजबूत हो गए, जबकि राज्य की मंडियों में कपास की दैनिक आवकों में कमी दर्ज की गई।

राज्य के कपास उत्पादक क्षेत्रों में मौसम साफ है। व्यापारियों के अनुसार नीचे दाम पर किसानों की बिकवाली कम होने से आज कपास की आवकों में कमी दर्ज की गई, जबकि विदेशी बाजार में दाम तेज होने से कॉटन के भाव मजबूत हुए। राज्य के किसानों के पास कपास का बकाया स्टॉक ज्यादा है, तथा किसान अभी भी भाव तेज होने का इंतजार कर रहे हैं। यही कारण है कि नीचे दाम पर आवकों कम हो जाती है। कपास का बकाया स्टॉक ज्यादा होने के कारण स्पिनिंग मिलें इन्वैंट्री नहीं बढ़ा रही है। हालांकि घरेलू बाजार में धागे की कीमतों में हाल ही में हल्का सुधार आया है लेकिन मिलें अभी भी सीमित मार्जिन में कार्य कर रही हैं। अत: मिलें जरुरत के हिसाब से ही कॉटन की खरीद कर रही है। उधर राज्य की जिनिंग मिलें भी दाम घटाकर कॉटन की बिकवाली नहीं करना चाहती, क्योंकि मिलें अभी भी डिस्पैरिटी का सामना कर रही हैं। इसलिए हाजिर बाजार में कॉटन की कीमतों में हल्का सुधार और भी बन सकता है। आज राज्य में बिनौला के भाव स्थिर हो गए।

आज राज्य की उत्पादक मंडियों में कपास की आवक 40,000 गांठ की हुई, जबकि पिछले कारोबारी दिवस में भी आवक 42,000 गांठ की हुई थी।

राज्य की मंडियों में कपास के भाव 1,470 से 1,700 रुपये और बिनौला के भाव 560 से 670 रुपये प्रति 20 किलो रहे।

ए ग्रेड कॉटन के दाम राज्य की मंडियों में 61,300 से 62,800 रुपये प्रति कैंडी क्वालिटीनुसार बोले गए।

वी797 किस्म नई कॉटन के दाम 48,500 से 49,500 रुपये प्रति कैंडी क्वालिटीनुसार बोले गए और बिनौला के दाम 4,800 से 4,850 रुपये प्रति क्विंटल रहे।

और जानकारी देखें

Leave a Comment