स्पिनिंग मिलों की मांग कमजोर बनी रहने से उत्तर भारत में कॉटन नरम, दैनिक आवक बढ़ी

स्पिनिंग मिलों की मांग कमजोर बनी रहने से उत्तर भारत में कॉटन नरम, दैनिक आवक बढ़ी

नई दिल्ली, 30 सितंबर (कमोडिटीज कंट्रोल) स्पिनिंग मिलों की मांग कमजोर बनी रहने के कारण उत्तर भारत के राज्यों पंजाब, हरियाणा और राजस्थान की मंडियों में शनिवार को भी कॉटन की कीमतें नरम हो गई, जबकि इन राज्यों की मंडियों में कपास की दैनिक आवकों में बढ़ोतरी दर्ज की गई।

आईसीई कॉटन वायदा के भाव में शुक्रवार को गिरावट का रुख रहा था। दिसंबर-23 वायदा अनुबंध में इसके दाम 1.56 सेंट कमजोर होकर 87.15 सेंट रह गए। इस दौरान मार्च-24 वायदा अनुबंध में इसके दाम 1.33 सेंट कमजोर होकर 87.92 सेंट हो गए। मई-24 वायदा अनुबंध में इसके दाम 1.03 सेंट कमजोर होकर 88.5 सेंट रह गए।

उत्तर भारत के कपास उत्पादक क्षेत्रों में मौसम साफ है। विदेशी बाजार में शुक्रवार को कॉटन के भाव में मंदा आया था, जिससे घरेलू बाजार में इसके दाम कमजोर हो गए। व्यापारियों के अनुसार कॉटन बाजार में असमंजस का दौर बना हुआ है, विश्व बाजार में कॉटन की कीमतें 85 से 89 सेंट के दायरे में कारोबार कर रही हैं, जबकि घरेलू बाजार में इसकी कीमतें विदेश के मुकाबले तेज बनी हुई थी। इसलिए कॉटन के निर्यात सौदों में भी पड़ते नहीं लग रहे हैं। घरेलू बाजार में यार्न में मांग सामान्य की तुलना में कमजोर है, जबकि इन राज्यों में मौसम साफ होने के कारण नई कपास की आवक लगातार बढ़ रही है। इसीलिए चालू सप्ताह में उत्तर भारत के राज्यों में कॉटन की कीमतों में मंदा आया है। बिनौला के भाव में दूसरे दिन हल्का सुधार आया है, जबकि कपास के भाव 50 रुपये कमजोर हो गए।

उत्तर भारत के पंजाब, हरियाणा एवं राजस्थान में कपास की बुआई खरीफ में बढ़कर 16.24 लाख हेक्टेयर में हुई है, जोकि पिछले साल की समान अवधि के 15.81 लाख हेक्टेयर से ज्यादा है।

भारतीय मौसम विभाग, आईएमडी के अनुसार चालू मानसूनी सीजन में पहली जून से 29 सितंबर तक हरियाणा में बारिश सामान्य से एक फीसदी कम, पंजाब में सामान्य से 5 फीसदी कम तथा राजस्थान में सामान्य से 15 फीसदी अधिक बारिश हुई है।

इन राज्य की उत्पादक मंडियों में नई कपास की आवक 15,500 गांठ, एक गांठ-170 किलोग्राम की हुई, जबकि पिछले कार्यदिवस में आवक 15,000 गांठ की हुई थी।

कपास के भाव पंजाब एवं हरियाणा लाईन की मंडियों में 6,900 से 7,200 रुपये प्रति क्विंटल बोले गए, जबकि ऊपरी राजस्थान लाईन में इसके भाव 7,000 से 7,300 रुपये प्रति क्विंटल रह गए। बिनौला के भाव पंजाब और हरियाणा लाईन में 3,000 से 3,200 रुपये एवं ऊपरी राजस्थान लाईन में 3,200 से 3,400 रुपये प्रति क्विंटल बोले गया।

पंजाब में नई रुई हाजिर डिलीवरी के भाव 6,150 से 6,175 रुपये प्रति मन यानि कैंडी के हिसाब से 58,500 से 58,600 रुपये बोले गए।

हरियाणा में नई रुई के भाव हाजिर डिलीवरी के 6,075 से 6,100 रुपये प्रति मन, यानि कैंडी में 57,700 से 58,000 रुपये बोले गए।

ऊपरी राजस्थान में नई रुई के भाव हाजिर डिलीवरी के 6,000 से 6,100 रुपये प्रति मन, यानि कैंडी में 57,100 से 58,000 रुपये बोले गए।

राजस्थान के पिलानी में रुई के भाव हाजिर डिलीवरी के 6,000 से 6,100 रुपये प्रति मन बोले गए।

लोअर राजस्थान में रुई के भाव हाजिर डिलीवरी के 58,000 से 59,000 रुपये कैंड़ी हो गए।

Leave a Comment