तेल मिलों की मांग बनी रहने से दूसरे दिन सरसों के दाम तेज, दैनिक आवक स्थिर

तेल मिलों की मांग बनी रहने से दूसरे दिन सरसों के दाम तेज, दैनिक आवक स्थिर
नई दिल्ली। तेल मिलों की खरीद बनी रहने के कारण घरेलू बाजार में बुधवार को लगातार दूसरे दिन सरसों की कीमतें तेज हुई। जयपुर में कंडीशन की सरसों के भाव 25 रुपये बढ़कर 5,650 रुपये प्रति क्विंटल हो गए। इस दौरान सरसों की दैनिक आवक तीन लाख बोरियों के पूर्व स्तर पर स्थिर बनी रही। विश्व बाजार आज में खाद्वय तेलों की कीमतों में तेजी का रुख था। मलेशियाई पाम तेल की कीमतों में सुधार आया, साथ ही इस दौरान शिकागो में सोया तेल तेज हुए। जानकारों के अनुसार विदेशी बाजार में खाद्वय तेलों में हल्का सुधार तो और भी बन सकता है लेकिन अभी बड़ी तेजी के आसार नहीं है। घरेलू बाजार में मांग बनी रहने से सरसों तेल की कीमतें बढ़ गई। साथ ही इस दौरान सरसों खल के भाव भी मजबूत हुए। व्यापारियों के अनुसार उत्पादक मंडियों में सरसों की दैनिक आवक आज स्थिर बनी रही, हालांकि प्रमुख उत्पादक राज्यों में सरसों का बकाया स्टॉक अभी भी पिछले साल की तुलना में ज्यादा है। इसलिए इसकी दैनिक आवक अभी बनी रहेगी। खपत का सीजन होने के कारण सरसों तेल में भी मांग अच्छी है, इसके बावजूद भी इसकी कीमतों में तेजी, मंदी काफी हद तक आयातित खाद्वय तेलों के दाम पर ही निर्भर करेगी। चीन के बाजार के साथ ही शिकागो में सोया तेल की मजबूती के कारण क्रूड पाम तेल (सीपीओ) के वायदा भाव में बुधवार को मलेशियाई एक्सचेंज में हल्की तेजी दर्ज की गई, तथा दूसरे सत्र में भी बढ़त बनी रही। हालांकि, ट्रेडिंग वॉल्यूम कम होने के कारण बढ़त सीमित हुई। बर्सा मलेशिया डेरिवेटिव्स एक्सचेंज (बीएमडी) पर मार्च डिलीवरी के पाम तेल वायदा अनुबंध में पिछले दो कार्य दिवसों की गिरावट के बाद 3 रिंगिट यानी 0.08 फीसदी की तेजी आकर दाम 3,766 रिंगिट प्रति टन पर बंद हुए। इस दौरान डालियान का सबसे सक्रिय सोया तेल वायदा अनुबंध 1.29 फीसदी बढ़ा, जबकि इसका पाम तेल अनुबंध 1.44 फीसदी तेज हुआ। शिकागो बोर्ड ऑफ ट्रेड में सोया तेल की कीमतें 0.21 फीसदी बढ़ी। जानकारों के अनुसार अधिकांश व्यापारी छुट्टियों पर हैं, इसलिए व्यापार सीमित मात्रा में हो रहा है। पिछले दिन की मजबूत बढ़त के बाद क्रूड तेल की कीमतें स्थिर बनी रहीं क्योंकि निवेशकों ने लाल सागर के घटनाक्रम पर नजर रखी। हालांकि कुछ प्रमुख शिपर्स ने लगातार हमलों और व्यापक मध्य पूर्व तनाव के बावजूद व्यापार मार्ग से गुजरना शुरू कर दिया है। डॉलर के मुकाबले रिंगिट 0.15 फीसदी की वृद्धि हुई, जिससे विदेशी आयातकों के लिए पाम खाद्वय उत्पादों का आयात महंगा हो गया।

जयपुर में सरसों तेल कच्ची घानी और एक्सपेलर की कीमतें में बुधवार को स्थिर बनी रही। कच्ची घानी सरसों तेल के भाव 1,015 रुपये प्रति 10 किलो पर पर स्थिर हो गए, जबकि सरसों एक्सपेलर तेल के दाम भी 1,005 रुपये प्रति 10 किलो बोले गए। जयपुर में बुधवार को सरसों खल के दाम 2,940 रुपये प्रति क्विंटल के पूर्व स्तर पर स्थिर बनी रहे। देशभर की मंडियों में सरसों की दैनिक आवक तीन लाख बोरियों की ही हुई, जबकि इसके पिछले कारोबारी दिवस में आवक इतनी ही बोरियों की हुई थी। कुल आवकों में से प्रमुख उत्पादक राज्य राजस्थान की मंडियों में 1.60 लाख बोरी, जबकि मध्य प्रदेश की मंडियों में 35 हजार बोरी, उत्तर प्रदेश की मंडियों में 35 हजार बोरी, पंजाब एवं हरियाणा की मंडियों में 15 हजार बोरी तथा गुजरात में 15 हजार बोरी, एवं अन्य राज्यों की मंडियों में 40 हजार बोरियों की आवक हुई।

Leave a Comment

मंडी भाव जानकारी 14 दिसंबर 2023 आज का ताजा नरमा और कपास का भाव पंजाब में आज के ताजा Diesel के भाव पंजाब में 14 Dec. 2023 के ताजा पेट्रोल के मूल्य आज का ताजा मंडी भाव जानकारी ग्वार,मूंग,मोठ, नरमा, कपास आदि फसलों का ताजा मंडी भाव जानकारी