ग्वार व ग्वार गम का स्टॉक

गम को ग्वार मे कनवर्ट करें तो कुल मिलाकर 1 करोड़ 5 लाख बोरी ग्वार ( 10500000 क्विंटल कुल ग्वार) 5% +/– रहने की सम्भावना। ये मेरा निजी अनुमान है।


अब बात करें डिमांड की जनवरी से मार्च इन 3 महिनों मे एक्सपोर्ट 78 हजार टन जाने की सम्भावना। अप्रेल से जून इन 3 महिनों मे 70 हजार टन। जुलाई से सितम्बर तक 60 हजार टन। टोटल 78+70+60= 2 लाख 8 हजार टन + डोमेस्टिक डिमांड 9 महिनों की लगभग 54 हजार टन। टोटल 9 महिनों की डिमांड डोमेस्टिक व एक्सपोर्ट मिलाकर करीब 2 लाख 60 हजार टन। इसको ग्वार मे कनवर्ट करें तो करीब करीब 90-95 लाख बोरी ग्वार चाहिये।

बेलेन्स : 1 करोड़ 5 लाख बोरी
खपत: 90-95 लाख बोरी
बेलेन्स : 10-15 लाख बोरी

क्या इन भावों मे सप्लाई चेन बरकरार रह पायेगी..!!??
नहरी ग्वार बिजाई बढने की दलील प्रभावी नहीं लगती, सनद रहे पिछले दो सालों में ग्वार के भाव 6000 रुपये रहे थे जो इस साल नहरी किसानों का 70% ग्वार 4200-4500 के भावों पर बिका है। मूंग 8500 बिके हैं और MSP और ज्यादा बढने की संभावना है। बीटी कोटन के अच्छे और प्रभावी बीज विकसित होने जा रहे है साथ ही ट्यूवैल के पानी से नरमा का उत्पादन तो संभव है मगर ग्वार को ट्यूवैल का पानी सूट नहीं करता
संयम रखें,समझदार बनें, भले ही ग्वार के भावों में तेजी ना बने पर तथ्यों को समझना जरूरी है।

ऊपर दी गई संपूर्ण जानकारी का क्रेडिट रंजीतमल बोथरा को जाता है।

Leave a Comment

मंडी भाव जानकारी 14 दिसंबर 2023 आज का ताजा नरमा और कपास का भाव पंजाब में आज के ताजा Diesel के भाव पंजाब में 14 Dec. 2023 के ताजा पेट्रोल के मूल्य आज का ताजा मंडी भाव जानकारी ग्वार,मूंग,मोठ, नरमा, कपास आदि फसलों का ताजा मंडी भाव जानकारी