इंडिया के प्रधान मंत्री ने क्यों धरा किसान का भेस

कैसे प्रधानमंत्री एक किसान भेस धारण कर के पुलिस स्टेशन पहुंच गए क्या हुआ पुलिस वालो के साथ चलिए जानते हैं बात है 1979 की जब उत्तरप्रदेश के usrahar पुलिस स्टेशन में फटे पुराने कपड़े पहन कर एक किसान अपने बैल की खु जाने की शिकायत लेकर आया था लेकिन वहा की पुलिस इंस्पेक्टर ने उसकी शिकायत दर्ज कराने के लिए रिश्वत मांग ली बड़ी मुकसत के बाद उस किसान ने अपनी जेब से 35 रूपये निकल कर उस पुलिस वाले के हाथ में धर दिए जिसके बाद उस पुलिस वाले ने शिकायत दर्ज कर ली और उस पर किसान के हस्ताक्षर लेने के लिए कागज किसान के हाथ में दिए

लेकिन उस किसान के हस्ताक्षर देखने के बाद उस पुलिस वाले के पेरो तले जमीन खिसक गई और पूरे पुलिस स्टेशन में हड़कप मच गया क्यों की उस कागज किसी और के नही बल्कि उस समय प्रधान मंत्री चौधरी चरण सिंह जी के हस्ताक्षर थे वो किसान कोई और नही खुद देश के प्रधान मंत्री थे उसी दिन प्रधान मंत्री चौधरी चरण सिंह जी ने उस रिश्वत खोर पुलिस वाले साथ साथ पूरे पुलिस स्टेशन ही सैसफेंड कर दिया था

Leave a Comment